कंफट्जोन

अंग्रेजी का शब्द है पर आजकल हिंदी में भी उसी तरह समाहित हो गया है जैसे दूध में घुलकर पानी नहीं दिखता। इसका शाब्दिक अर्थ”सुविधा क्षेत्र”हैं।कंफट्जोन यानी ऐसी जगह जहां हमें सब आसानी से सुलभ हो जाए बिना अधिक परिश्रम के। अपने जीवनयापन के तौरतरीकों को हमने कंफट्जोन में लाने के लिए बहुत कुछ किया।… Continue reading कंफट्जोन

मीर तक़ी मीर- 

-मीर तक़ी मीर- इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या आगे-आगे देखिए होता है क्या क़ाफ़िले में सुबह के इक शोर है यानी ग़ाफ़िल हम चले सोता है क्या सब्ज़ होती ही नहीं ये सरज़मीं तुख़्म-ए-ख़्वाहिश दिल में तू बोता है क्या ये निशान-ए-इश्क़ हैं जाते नहीं दाग़ छाती के अबस धोता है क्या ग़ैरते-युसूफ़ है ये… Continue reading मीर तक़ी मीर- 

🦁🦁

गर्दिशे कुदरत की नेमत होती हैं आसान हो जाए मिल जाना सब कुछ तो कद्र ना करना इंसा की फितरत होती हैं।। उम्र कहा कम है कि मुकाम तक आके रुक जाए हासिल कर के बने रहना भी इसकी जरूरत होती हैं।। तजुर्बा सिखाता है पाने से ज्यादा बांटना होता है देने वाले के घर… Continue reading 🦁🦁

बारिश

जिनके बलम बैरी गए है बिदेसवा आयी है लेके उनके प्यार संदेसवा कारी मतवारी घटाएं घनघोर जियारा रे झूमे ऐसे जैसे बनमा नाचे मोर 🎼🎵🎶

**

मद्धम सी रोशनी शीतल हवा की बयार माटी की सौंधी खुशबू रिमझिम की फुहार बूंदों की ताल पर नाचता मयूर हर कली हर पात पर मोती की झंकार शोर मचाते घनश्याम की बिजुरी से टकरार भीगा भीगा है आलम उमंग की भरमार बदलती ऋत के साथ आया है बारिश का त्योहार।।🌧️🌧️

**

You are like a gaint Banyan tree For me I live on your lap I play on your arms Like a tiny hummingbird 🐦 As I thought you , You are a voluminous ocean For me I play, jump and dive with your waves of emotions Like a dolphin 🐬 Sometimes I just thought You… Continue reading **

**

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

**

जिंदगी से क्या चाहिए हमें? आंखों में कुछ सपने हो, साथ हमारे अपने हो, कुछ पल सुकून के, कुछ जज्बे जुनून के। ख्वाहिशों के अंबार में सब्र का खजाना हो। बेपरवाही के साथ कुछ रिश्ते निभाना हो। क्यों सोचे? क्या सोचती है दुनिया हमें? अपनी जिंदगी अपने अंदाज में जिए। कौन सा रोज यहां हमारा… Continue reading **